ढांगा-ढांगा!


 ढांगा-ढांगा! 
ढांगा-ढांगा
पुंगड़ा का ढीस किलै प्वड़्यूं छै? 
तिसू छौं। 
तिसू किलै छैं ? 
पाणि नि बर्खू।
पाणि पाणि किलै नि बर्खू
बल मिंडकै नि बासा
बल मिंडका मिंडका किलै नि बासू
गुरौल खैयाल। 
बल गुरौ गुरौ किलै खांदि
बल मेरि जाति ई इन च।